मंगल करनी चिंता हरनी भजन लिरिक्स – सूरज [ देवी भजन ]

देवी माँ का सुन्दर भजन मंगल करनी चिंता हरनी भजन के गायक सूरज है और म्यूजिक पंकज जी की है। इस भजन के लेखक राज कुमार केसरी है। टी-सीरीज ने मंगल करनी चिंता हरनी भजन रिलीज़ किया है।

मंगल करनी चिंता हरनी भजन लिरिक्स

जय माँ….
हो माय नि भुवे खोल दर तेरे लाल आए है
तेरी चरण में करने हम असदास आए है
माय नि भुवे खोल दर तेरे लाल आए है
तेरी चरण में करने हम असदास आए है
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
तेरे जो दर्शन न हो तो माँ आँख है भर आयी
नमो नमो दुर्गे सुख करनी नमो नमो अम्बे दुख हरणी

इतने पापी अत्याचारी भोग रहे है माँ खुशियां
निर्धनता न पेट भरे तो कैसे चलेगी ये दुनिया
इतने पापी अत्याचारी भोग रहे है माँ खुशियां
निर्धनता न पेट भरे तो कैसे चलेगी ये दुनिया
अब तू ही राह दिखा मइया भूखे को अन्न खिला मइया
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
तेरे जो दर्शन न हो तो माँ आँख है भर आयी
नमो नमो दुर्गे सुख करनी नमो नमो अम्बे दुख हरणी

तूने सबको दिया है सब कुछ भूल गयी मुझको मइया
कर फैलाए खड़े है हम तुम खेल तू खेले है मइया
अब चमत्कार दिखलादे माँ नैनो की प्यास भूजा दे माँ
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
मंगल करनी चिंता हरणी माँ तू है सुखदायी
तेरे जो दर्शन न हो तो माँ आँख है भर आयी
नमो नमो दुर्गे सुख करनी नमो नमो अम्बे दुख हरणी

भजन डाउनलोड करे
लेखक – राज कुमार केसरी

आशा है आपको भजन के बोल पसंद आए हो। अगर अच्छी लगी हो तो कमेंट करिये और आप भजन डाउनलोड भी करे। ऐसे ही भजनो की लिरिक्स पाने के लिए हमारी वेबसाइट की नोटिफिकेशन ऑन कर ले, ताकि हम जब भी भजन के बोल पोस्ट करे आप तक पहुंच सके।

वीडियो देखे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *