Jab Se Nihara Roop Tumhara Bhajan Lyrics

Presenting the jab se nihara roop tumhara shyam bhajan lyrics this bhajan sung by raaju and sawariya channel release this shyam bhajan.

Jab Se Nihara Roop Tumhara Lyrics

जबसे निहारा रूप तुम्हारा
लगता नही है प्यारा कोई
जबसे निहारा रूप तुम्हारा
लगता नही है प्यारा कोई
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई
सांवरिया तेरी सूरत पे
सूरज चंदा भी बलिहारी
सांवरिया तेरी सूरत पे
सूरज चंदा भी बलिहारी
आखियो से बरसता अमृत है
मुस्कान पे सब दुनिया हारी
इस दुनिया मे श्याम से सुंदर
हो सकता है कोई नही
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई

मुरली की मधुर तां से मोहन
मुरझाया मन भी खिल जाता
मुरली की मधुर तां से मोहन
मुरझाया मन भी खिल जाता
जो संग में तेरे खेले है
वैसा एक पल भी मिल जाता
जन्मों से प्यासी इन अखियन को
मिल जाता सागर कोई
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई
जबसे निहारा रूप तुम्हारा
लगता नही है प्यारा कोई
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई
तेरा ही सुमिरन हो जीवन
तेरा ही दर्शन पाए नयन
जब तक सांसो का साद बजे
गूंजे तेरे नाम की सरगम
राजू की दुनिया से जब हो विदाई
सपनो में तेरे हो होइ कोई
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई
जबसे निहारा रूप तुम्हारा
लगता नही है प्यारा कोई
कैसे बताय तुझको कन्हैया
मिलने को आँखे कितनी है रोई

Bhajan Download

One thought on “Jab Se Nihara Roop Tumhara Bhajan Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *