Koi Mala Phere Bhajan Lyrics – Jaswant Singh

सत्संगी मनमोहक भजन Koi Mala Phere Bhajan Lyrics लाया हूँ , जिसके गायक Jaswant Singh  है। म्यूजिक Jaswant Singh की और कोई माला फेरे भजन के लेखक Kabirdas की है। भजन को टी-सीरीज ने रिलीज़ किया है।

Koi Mala Phere भजन लिरिक्स

कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे
कोई माथे तिलक लगावे
जो ध्यावे मन से प्रभु को रे
जो ध्यावे मन से प्रभु को
वो ही प्रभु को पाए
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे

माला फेरत जुग भयो
गया न मन का फेर
माला फेरत जुग भयो
गया न मन का फेर
गया न मन का फेर
करका मन का डार दे
करका मन का डार दे
और मनका मनका फेर रे
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे

पत्थर पूजे हरि मिले
तो मैं पूजू पहाड़
तो मैं पूजू पहाड़ रे
पत्थर पूजे हरि मिले
तो मैं पूजू पहाड़
तो मैं पूजू पहाड़
घर की चाकी को न पूजे
घर की चाकी को न पूजे
जाको पीसो खाय रे
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे

कांकर पाथर जोड़ के
मज़्ज़िद दई बनाए
मज़्ज़िद दई बनाए
कांकर पाथर जोड़ के
मज़्ज़िद दई बनाए
मज़्ज़िद दई बनाए
ताचड़ मुल्ला बांग दे अल्ला
ताचड़ मुल्ला बांग दे
क्या बेहरा हुआ खुदाए
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे

कोई माथे तिलक लगावे
जो ध्यावे मन से प्रभु को रे
जो ध्यावे मन से प्रभु को
वो ही प्रभु को पाए
कोई माला फेरे
कोई ऊंचा टेरे……..

भजन डाउनलोड करे

आशा है आपको Koi Mala Phere भजन लिरिक्स पसंद आया हो अगर आपको लिरिक्स पसंद आयी तो कमेंट करके जरूर बताय और हमारी वेबसाइट नोटिफिकेशन ऑन कर ले ताकि जब भी हम आपके लिए हिंदी भजन लिरिक्स प्रस्तुत करे आप तक पहुंच सके। हम आपके लिए ऐसे ही सुन्दर सुन्दर भजन के बोल लाते रहेंगे। अगर आप भजन डाउनलोड करना चाहते है तो आप हमारी bhajanmp3download.com वेबसाइट में विजिट करे।

वीडियो देखे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *