Prani Lok Mujhe Bhi Le Chal Bhajan Lyrics – Tara Devi & Deepak Ram

शिव जी का सुन्दर भजन Prani Lok Mujhe Bhi Le Chal Bhajan Lyrics लाया हूँ जिसके गायिका Tara Devi & Deepak Ram है। Music Amit Singh की है और प्राणी लोक मुझे भी ले चल भजन के लेखक Subhash Bose है।

Prani Lok Mujhe Bhi Le Chal भजन लिरिक्स

प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया
प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया
होके नंदी पे सावार जाऊ कैलाश पार
धरती घूमन दे , घूमन दे
पापियों के पाप से है भरा सारा संसार
पापियों के पाप से है भरा सारा संसार
कही फैला भ्रष्टाचार कही होवे अनाचार
छुपा स्वार्थ मन मे, जन-जन में
प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया…

डमरू धर मोहे यूं न उलझाओ
बातों के इस जाल में
भोली गौरा फस जाएगी तू
माया नगरी की चाल में
तूने बनाई कैसी धरती
तूने बनाई कैसी धरती
जा न सकू किसी खान में
जब कोई मन से पुकारे तुझे गौरा
जब कोई मन से पुकारे तुझे गौरा,
कोई कहे कुछ अगर, तब जाना न ठहर
जाऊ बन-ठन के, बन-ठन के
प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया
प्राणी लोक
ओ हो…. .

सुन गौरा धरती पे है छाया
ये कलयुग घनघोर हो…
नाथ चले तब संग में भी तो
रात भी लगे मुझे भोर हो
सोचले फिर से बात ये अपनी
सोचले फिर से बात ये अपनी
फिर न होना तंग हो
ओ घंटाणी तुझ संग बिताया अपना जीवन
ओ घंटाणी तुझ संग बिताया अपना जीवन
नही डर कोई भय न कोई शंशय
अब है मन मे मैं, मेरे मन मे

पापियों के पाप से है भरा सारा संसार
पापियों के पाप से है भरा सारा संसार
कही फैला भ्रष्टाचार कही होवे अनाचार
छुपा स्वार्थ मन मे, जन-जन में
प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया…
प्राणी लोक मुझे भी ले चल भोले जोगिया
होके नंदी पे सावार जाऊ कैलाश पार
धरती घूमन दे , घूमन दे

लेखक- Subhash Bose
भजन डाउनलोड करे

आशा है आपको Prani Lok Mujhe Bhi Le Chal भजन लिरिक्स पसंद आया हो अगर आपको लिरिक्स पसंद आयी तो कमेंट करके जरूर बताय और हमारी वेबसाइट की नोटिफिकेशन ऑन कर ले ताकि जब भी हम आपके लिए हिंदी भजन लिरिक्स प्रस्तुत करे आप तक पहुंच सके। हम आपके लिए ऐसे ही सुन्दर सुन्दर भजन के बोल लाते रहेंगे।

भजन वीडियो देखे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *